हिन्दी समाचार (Hindi News)की आधिकारिक वेबसाइट. पढ़ें देश और दुनिया की ताजा ख़बरें, खेल सुर्खियां, व्यापार, बॉलीवुड और राजनीति के समाचार. Get latest News in Hindi, ब्रेकिंग न्यूज़, Hindi News: Latest हिंदी न्यूज़, News Headlines in Hindi, Breaking News in Hindi. पढ़ें देश भर की ताज़ा ख़बरें, India News The Awaz :द आवाज़ पर पर

About Us

परिचय

द आवाज़ एक  24×7 ऑनलाइन समाचार पत्र है, जो समाज में व्याप्त बुराईयों भ्रष्टाचार, राजनीती,गरीबी,आतंकवाद, पर अपने पाठको को समाचार सेवा प्रदान करता है, तथा इसके साथ साथ अन्य मुद्दों को भी प्रमुखता से प्रकाशित करता है जिसमे  चर्चित व्यक्ति, मनोरंजन, साहित्य/कविता/ग़ज़ल मुख्य है.

क्या कॉरपोरेट घरानों द्वारा चलाए जा रहे या पारिवारिक विरासत बन चुके मीडिया संस्थानों के बीच किसी ऐसे संस्थान की कल्पना की जा सकती है जहां सिर्फ पत्रकार और पाठक को महत्व दिया जाए? कोई ऐसा अखबार, टेलीविजन चैनल या मीडिया वेबसाइट जहां संपादक पत्रकारों की नियुक्ति, खबरों की कवरेज जैसे फैसले संस्थान और पत्रकारिता के हित को ध्यान में रखकर ले, न कि संस्थान मालिक या किसी नेता या विज्ञापनदाता को ध्यान में रखकर. किसी भी लोकतंत्र में जनता मीडिया से इतनी उम्मीद तो करती ही है पर भारत जैसे विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र में मीडिया के वर्तमान माहौल में संपादकों को ये आजादी बमुश्किल मिलती है. वक्त के साथ-साथ पत्रकारिता का स्तर नीचे जा रहा है, स्थितियां और खराब होती जा रही हैं.

पत्रकारिता में दिनोंदिन कई गलत प्रचलन सामने आ रहे हैं, जैसे खबरों को गैर-जरूरी तरीके से संपादित करना, पेड न्यूज, निजी संबंधों के लाभ के लिए कुछ खबरों को चलाना आदि. मीडिया संस्थान अब खबर तक पहुंचना नहीं चाहते, इसके उलट, उन्होंने पत्रकारिता की आड़ में व्यापारिक समझौते करने शुरू कर दिए हैं, कुछ महत्वपूर्ण सूचनाएं और खबरें जनता तक पहुंचती ही नहीं हैं क्योंकि मीडिया संस्थान उन्हें किसी व्यक्ति या संस्था विशेष को लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से सामने लाना ही नहीं चाहते. धीरे-धीरे ही सही पर जनता भी इस बात को समझने लगी है कि पत्रकारिता खतरे में पड़ रही है. आमजन का मीडिया पर विश्वास कम हो रहा है. वही मीडिया जो लोकतंत्र का ‘चौथा स्तंभ’ होने का दम भरता था, अपनी विश्वसनीयता खोता जा रहा है.

द आवाज़ का आरंभ अप्रैल-2017 में हुआ था जिस समय देशभर में चुनाव, पेड खबरे का जूनून छाया हुआ था,अधिकतर पेड ख़बरें जो भारतीय दर्शक न्यूज़ पर देखते सुनते थे उनसे अलग हटकर द आवाज़ ने निश्चय किया की दिन भर पेड ख़बरें देखने वाली जनता के सामने सच रखा जायेगा.

ये काम इतना आसान नही था क्यूंकि जब भी सच बोला लिखा जाता है तब की ना किसी को बुरा ज़रूर लगता है लेकिन सच को नहीं काटा जा सकता.

क्या है द आवाज़ न्यूज़ का मकसद

द आवाज़ वैसे तो हर तबके की ख़बरें अपने न्यूज़ पेपर पर प्रकाशित करता रहता है लेकिन इसका मुख्य उद्देश देश में व्याप्त भ्रष्टाचार, साम्प्रदायिकता, जातिवाद, पूंजीवाद, आदि की असलियत लोगो के सामने रखनी है.

 

The Awaz Newspaper on Social Media

FACEBOOK– https://www.facebook.com/theawazofficial/

TWITTER –  https://twitter.com/theawazofficial