CM केजरीवाल ने की सिफारिश, रद्द हो सकती है DSSSB परीक्षा

12

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्राइमरी शिक्षकों की नियुक्ति के लिए हुई डीएसएसएसबी परीक्षा रद्द करने की सिफारिश की है। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि उन्होंने और उपमुख्यमंत्री ने लीक हुई इस परीक्षा को रद्द करने की सिफारिश की है। इसके लिए उन्होंने दिल्ली के उपराज्यपाल के पास फाइल भेज दी है।

उन्होंने शुक्रवार को उपराज्यपाल से परीक्षा रद्द कराने के निर्णय को मंजूरी देने को कहा था। केजरीवाल ने ट्वीट में लिखा कि इस परीक्षा के लीक होने से लगभग 70 हजार नौजवान प्रभावित हुए हैं। हमें भविष्य में ऐसी घटनाएं रोकने के लिए व्यवस्था को दुरुस्त करने की जरूरत है। हिन्दुस्तान ने सबसे पहले दिल्ली अधीनस्थ सेवा चयन बोर्ड (डीएसएसएसबी) की परीक्षा का पेपर लीक होने की खबर प्रकाशित की थी।

उपराज्यपाल कार्यालय के मुताबिक अभी परीक्षा रद्द करना जल्दबाजी होगी

सूत्रों के मुताबिक, दिल्ली पुलिस इस मामले में तेजी के साथ कार्रवाई कर रही है। उसी दिन एफआईआर दर्ज कर ली गई थी और केस अपराध शाखा को सौंप दिया गया था। इस मामले में अभी तक दिल्ली के सरकारी स्कूलों के 2 अध्यापक व एक प्रिंसिपल समेत 20 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। जांच बहुत तेजी से चल रही है लेकिन यह अभी पूरी नहीं हुई है। सभी संबंधित लोगों से पूछताछ की जा रही है। ऐसी स्थिति में परीक्षा को रद्द करना जल्दबाजी होगा। यह बात पहले ही मुख्यमंत्री को बताई जा चुकी है। डीएसएसएसबी से भी इस बाबत रिपोर्ट मांगी गई है। चूंकि परीक्षा एमसीडी के स्कूलों में अध्यापकों की भर्ती के लिए आयोजित की गई थी, ऐसे में डीएसएसएसबी द्वारा भेजी गई रिपोर्ट उसे भी भेज दी गई है।

परीक्षा से पहले प्रश्नपत्र सोशल साइट पर वायरल हो गया था
29 अक्टूबर को प्राइमरी शिक्षकों की भर्ती के लिए हुई परीक्षा खत्म होने से पहले ही फेसबुक पर इसका प्रश्नपत्र उत्तर सहित अपलोड कर दिया गया। यह परीक्षा दिल्ली के 223 परीक्षा केंद्रों पर 29 अक्टूबर को दोपहर 1:30 बजे से 3:30 बजे आयोजित हुई थी। परीक्षा खत्म होने से पहले ही दोपहर 3:15 पर यह प्रश्नपत्र दिल्ली अतिथि शिक्षक संघ के नाम से बने फेसबुक पेज पर उत्तर सहित अपलोड कर दिया गया।

डीएसएसएसबी चेयरमैन पर गिरी गाज 
पेपर लीक की खबर प्रकाशित होने के बाद दिल्ली सरकार के सेवा विभाग ने डीएसएसएसबी के चेयरमैन आशीष चंद्र वर्मा को उनके पद से हटा दिया था। उन्हें दिल्ली सरकार के समाज कल्याण विभाग और महिला एवं बाल विभाग के सचिव की जिम्मेदारी दी गई है। समाज कल्याण विभाग के सचिव अनिल कुमार सिंह को दिल्ली अधीनस्थ सेवा चयन बोर्ड (डीएसएसएसबी) का चेयरमैन का दायित्व सौंपा गया था। यह कार्रवाई उपराज्यपाल अनिल बैजल के आदेश पर की गई थी।

4366 पदों के लिए परीक्षा हुई
प्राइमरी शिक्षकों की भर्ती के लिए दिल्ली अधीनस्थ सेवा चयन बोर्ड (डीएसएसएसबी) ने 29 अक्टूबर को राजधानी के 223 केंद्रों पर परीक्षा आयोजित कराईं। इसमें करीब 70 हजार प्रतियोगियों ने हिस्सा लिया था। यह परीक्षा कुल 4366 पदों के लिए हुई थी। पेपर लीक की खबर प्रकाशित होने के बाद से ही प्रतिभागी मुख्यमंत्री और उपराज्यपाल से मिलकर परीक्षा रद्द कराने की मांग कर रहे थे।

पेपर लीक मामले में अब तक 20 गिरफ्तार 
पेपर लीक मामले की छानबीन कर रही पुलिस अब तक 20 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी हैं। इनमें दोनों प्रधानाचार्य के अलावा, सैकड़ों लोगों की नौकरी लगवा चुका पीटी शिक्षक वीरेन्द्र माथुर, अजय और वीरेन्द्र सहित आधा दर्जन एजेंट, परीक्षा में बैठे तीन छात्र और प्रश्नपत्र हल करते हुए गिरफ्तार किए गए आठ युवक शामिल हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.