सामने आया सर्जिकल स्ट्राइक का वीडियो, भारत ने ऐसे पाकिस्तान के उड़ाए थे छक्के

207

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के उड़ी में आतंकी हमले के बाद भारतीय सेना द्वारा की गई सर्जिकल स्ट्राइक की पहली तस्वीरें और वीडियो सामने आई हैं। बता दें कि 18 सितंबर 2016 को उड़ी सैन्य कैंप पर आतंकियों ने हमला कर दिया था। जिसके 11 दिन बाद भारतीय जवानों ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया गया था। जिसकी चर्चा देश में ही नहीं विदेशों में भी हुई थी।

वीडियो में दिखाया गया है कि किस तरह भारतीय सेना के कमांडो ने पाकिस्तानी सीमा में घुसकर आतंकियों के अलग-अलग ठिकानों को निशाना बनाया गया था। आतंकियों के अड्डों को बर्बाद करने के लिए किया गया था ये सर्जिकल स्ट्राइक को भारतीय सेना के पैरा कमांडोज की 8 टीमों ने इस हमले को अंजाम दिया था। पीओके में सर्जिकल स्ट्राइक करने के बाद सेना के सभी कमाडों सुरक्षित वापस लौट आए थे। ऐसा बताया जा रहा है कि ड्रोन की मदद से सर्जिकल स्ट्राइक का ये वीडियो बनाया गया है। indian-army-surgical

वहीं विपक्षी पार्टियों ने सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर सवाल खड़े किए थे और इसे फर्जिकल करार दिया था। यही नहीं देश के नेताओं और कई बुद्धिजीवियों ने इसके सबूत भी मांगे थे। indian-army

बता दें कि सर्जिकल स्ट्राइक के अगले दिन सेना के तत्कालीन डायरेक्टर जनरल ऑफ मिलिट्री ऑपरेशंस रणबीर सिंह ने एक प्रेस कांफ्रेंस करके इसकी जानकारी साझा की थी। जिसके बाद पाकिस्तान ने कहा था कि भारत द्वारा ऐसी कोई भी कार्रवाई नहीं की गई है। लेकिन अब इस कार्रवाई के 21 महीने बाद एक वीडियो सामने आया है। जिसमें कई लॉन्च पैड्स को तबाह होते देखा जा सकता है।Lt Gen Ranbir Singh

 

18 सितंबर को उड़ी में हुए इस हमले में सेना के 20 जवान शहीद हुए थे। इसके बाद आतंकियों से बदला लेने के लिए सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया गया था। स्ट्राइक के बाद भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने देशभर में जश्न मनाया था। साथ ही पोस्टर लगाकर पीएम नरेंद्र मोदी और रक्षा मंत्री मनोहर पार्रिकर को बधाई दी थी।

Indian Army

सर्जिकल स्ट्राइक के पहले 10 दिन चली थी तैयारी

बता दें कि साल 2016 की इस सर्जिकल स्ट्राइक से पहले पीएम नरेंद्र मोदी, तत्कालीन रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवाल और डीजीएमओ रणबीर सिंह ने करीब 10 दिनों तक इस ऑपरेशन की मॉनिटरिंग की थी। इस दौरान भारतीय सैटलाइट के माध्यम से सेना को आतंकी लॉन्च पैड्स की लोकेशन बताई गई थी। इसके बाद 29 सितंबर को अमावस की रात में सेना के जवानों ने पाक अधिकृत कश्मीर के आतंकी लॉन्च पैड्स पर स्ट्राइक की थी।

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App

Leave A Reply

Your email address will not be published.