The Awaz
Latest and Important from Digital World

क्या है Kisan Credit Card (KCC) और कैसे इसे बनवाएं

68

Kisan Credit Card

आज हम आपको बताएंगे की किसान क्रेडिट कार्ड – Kisan Credit Card हर किसान के पास होना क्यों जरूरी है और आप Kisan Credit Card कैसे बनवा सकते है।

KCC तो अपने सुना होगा जिसका मतलब है Kisan Credit Card – किसान क्रेडिट कार्ड

Kisan-Credit-Card: किसान क्रेडिट कार्ड : KCC
Kisan-Credit-Card: किसान क्रेडिट कार्ड : KCC

और बीते समय से इसकी अनिवार्यता कितनी बढ़ गई है एक किसान होने के नाते आप ये तो जानते ही होंगे।

अगर आप किसान क्रेडिट कार्ड से वंचित है तो तुरंत इसे जाकर बनवाएं।

एक किसान क्रडिट कार्ड एक किसान के लिए इतना महत्वपूर्ण क्यों है तो उससे पहले इसकी शुरुआत क्यों और कब हुई ये जानते है।

किसान क्रेडिट कार्ड क्यों शुरू किया गया:

किसान की आर्थिक जरूरतों और समस्याओं के समाधान के लिए साल 1998 मे भारत सरकार बतौर तोहफा किसान के लिए किसान क्रेडिट कार्ड की ये योजना लाई थी। Kisan Credit Card एक अग्रणी ऋण प्रणाली है। नाबार्ड और रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) द्वारा शुरू की गई स्कीम के तहत KCC कर्ज से किसान कृषि उपकरणों, खाद, बीज, कीटनाशकों, रसायनों आदि की खेती संबंधी जरूरतों की पूर्ति कर सकता है और उत्पादन को बेचकर इस कर्ज को चुका सकता है।

आपको बता दें की KCC के माध्यम से किसान अपनी कृषि जरूरतों के अलावा घरेलू जरूरतें जैसे रोजगार और मत्स्य पालन आदि के लिए भी अल्पावधि कर्ज ले सकता है। KCC के मध्यम से एक किसान 50 हजार से लेकर 3 लाख तक का कर्ज ले सकता है।

कर्ज लेने की रकम किसान की आय, क्रेडिट हिस्ट्री, कृषि योग्य भूमि के क्षेत्र, पिछली फसल के उत्पादन, भूमि की उर्वरता और खेत को फिर से कृषि योग्य बनाने मे लगने वाली लागत के आधार पर तय होती है।

किसान क्रेडिट कार्ड पर मिलने वाले कर्ज पर ब्याज का प्रतिशत काफी कम रहता है।

KCC के तहत दिए जाने वाले ऋण मे 2 श्रेणी आती है।

  1. फ़सली ऋण ( Crop Loan )
  2. मियादी ऋण ( Term Loan )

फ़सली ऋण ( Crop Loan ):

Kisan Credit Card एक बार बनवाने पर 5 साल के लिए मान्य होता है। कोई भी किसान इन 5 वर्षों मे 3 लाख रुपये तक का फसल कर्ज ले सकता है।

KCC के कर्ज पर ब्याज की दर सालाना 7% की होती है। वहीं अगर कोई किसान एक साल के अंदर अपना कर्ज चुका देता है तो उसे 3% की ब्याज मे छूट मिलती है। इस तरह यह ब्याज कर्ज पर घटकर मात्र 4% रह जाता है।

मियादी ऋण ( Term Loan ):

3 लाख से ऊपर आप जो भी लोन लेते है उसे मियादी ऋण या टर्म लोन कहते है।

अब तीन लाख से ऊपर आपको कितना कर्ज मिल सकता है , मिलेगा भी या नहीं, अगर मिलेगा तो उसपर कितना ब्याज लगेगा ये सब लोन देने वाली बैंक तय करती है। इस मियादी ऋण मे सरकार की तरफ से कोई रियायत नहीं दिया जाता।

किसान क्रेडिट कार्ड से होने वाले फायदे:

  • KCC की खूबी यह है की इसके तहत किसान को कृषि कार्य के अलावा अन्य के लिए भी लोन आसानी से मिल जाता है।
  • इस लोन को लेने की प्रक्रिया इतनी आसान होती है की एक कम पढ़ा लिखा किसान भी आसानी से लोन प्राप्त कर सकता है।
  • इसके साथ ही किसान को इंश्योरेंस कवरेज भी दिया जाता है। KCC के तहत फसल ऋण या कर्ज लेने पर फसल बीमा की भी सुविधा है।
  • प्राकर्तिक आपदा, रोग या कीटों से फसल बर्बाद होने की स्थिति मे भी किसान क्रेडिट कार्ड किसानों को सहायता प्रदान करता है।
  • किसान क्रेडिट कार्ड धारकों को दुर्घटना बीमा कवर भी मिलता है। जिसके तहत कृषि कार्यों के दौरान दुर्घटना मे मृत्यु होने पर 50 हजार व विकलांग होने पर 25 हजार रुपये बतौर मुआवजा मिलता है। यह दुर्घटना बीमा कवर कार्ड धारक के लिए 70 साल की उम्र तक मान्य होता है।
  • किसान को किसान क्रेडिट कार्ड के साथ एक पासबुक मिलती है जिसमे उसकी तमाम जानकारी होती है।
  • किसान के लिए किसान क्रेडिट कार्ड एक परिचय पत्र की तरह भी काम करता है।

किसान क्रेडिट कार्ड के लिए कौन कर सकता है आवेदन:

  • किसान क्रेडिट कार्ड के लिए ऐसा कोई भी व्यक्ति आवेदन कर सकता है वो किसान हो चाहे वो अपनी भूमि पर खेती करता हो या अन्य किसी भूमि पर खेती करता हो,
  • फसल उत्पादन से जुड़े लोग भी एकल हो या फिर सम्मिलित होकर किसान क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन कर सकते है।

KCC को आप किसी भी सरकारी या प्राइवेट बैंक मे जाकर बनवा सकते है। भारत के किसी भी हिस्से मे रहने वाला हर छोटा-बड़ा किसान, किसान क्रेडिट कार्ड बनवा सकता है।

किसान क्रेडिट कार्ड सीधा किसान के बचत खाते से लिंक होता है। ताकि अगर किसान के खाते मे कर्ज की रकम बची हुई तो उसपर किसान को ब्याज भी मिलता रहे।

मौजूद समय मे देश मे करीब 7 करोड़ किसान परिवारों के पास किसान क्रेडिट कार्ड है।

सरकार ने KCC बनवाने की प्रक्रिया को पहले से और आसान कर दिया है। साथ ही फीस भी हटा दी गई है। किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने मे अभी तक 2 से 5 हजार रुपये तक का खर्च आता था लेकिन हाल ही मे द इंडियन बैंक एसोसिएशन ने सभी बैंकों को एड्वाइजरी जारी कर “KCC बनवाने मे लगने वाली फीस, कर्ज माफी से जुड़े दस्तावेजों जांच समेत अन्य सर्विस पर लगने वाले चार्ज मे छूट देने की बात कहीं है।“

कौन से दस्तावेज लगेंगे:

अभी तक किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए पहचान पत्र, आधार कार्ड, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, राशन कार्ड, भूमि के दस्तावेज और गारंटर की भी जरूरत होती थी। लेकिन अब आप KCC पाने के लिए इन तमाम दस्तावेजों की बजाय सिर्फ 3 डॉक्युमेंट्स से किसान क्रेडिट कार्ड बनवा सकते है।

  1. भूमि के मालिकाना हक का रिकार्ड
  2. निवास प्रमाण पत्र (Address Proof )
  3. हलफ़नामा
डेयरी किसानों का भी बनेगा KCC | Credit: Patrika.com
डेयरी किसानों का भी बनेगा KCC | Credit: Patrika.com

किसान क्रेडिट कार्ड से अब लोन सिर्फ कृषि के लिए ही नहीं बल्कि पशुपालकों और मत्स्य पालकों को भी इससे कर्ज मिलेगा।

किसान क्रेडिट कार्ड पर कृषि कर्ज 3 लाख रुपये तक व पशुपालन/मछली पालन के लिए 2 लाख रुपये तक लोन ले सकते है।

Kisan Credit Card कैसे अप्लाइ करें:

  1. किसान क्रेडिट कार्ड लेने के लिए किसान को अपने सभी डॉक्युमेंट्स को लेकर अपने नजदीक बैंक शाखा मे जाना होगा।
  2. बैंक मे जाकर किसान वहाँ से Kisan Credit कार्ड का आवेदन फार्म लेकर इसमे मांगी हुई सभी जानकारियों को भरना होगा।
  3. सभी जानकारी भरने के बाद उसके साथ दस्तावेजों को लगाकर बैंक अधिकारी के पास जमा करना होगा।
  4. आपके आवेदन फार्म को सत्यापित करने के बाद कुछ ही दिनों मे आपको किसान क्रेडिट कार्ड मिल जाएगा।

यहाँ से Kisan Credit Card फार्म Download करें: Click Here

किसान क्रेडिट कार्ड योजना के लिए Online Apply कैसे करें:

  1. किसान को पहले अपने बैंक की Official वेबसाईट पर जाना होगा
  2. वहाँ जाकर आपको KCC Online Apply के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  3. यहाँ KCC चुनकर मांगी गई तमाम जानकारियों को भरके submit करना पड़ेगा।
  4. Submit करने के बाद आपको एक Application नंबर मिलेगा।
  5. इस फार्म को बैंक के नजदीकी ब्रांच मे जमा कराएं
  6. लोन ऑफिसर आपके फार्म का रिव्यू करेगा
  7. लोन मंजूर होने पर आपके पते पर किसान क्रेडिट कार्ड भेज दिया जाएगा

किसी भी सहायता के लिए संपर्क करें: PM-Kisan Helpline No.

155261 / 1800115526 (Toll Free),
011-23381092

अगर आपको हमारी यह जानकारी पसंद आई है तो इसे अन्य किसान भाइयों व जरुरतमन्द के साथ जरूर शेयर करें।

किसी भी सुझाव व शिकायत के लिए comment बॉक्स मे जरूर लिखें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.